HomeTECHNOLOGYविद्युत (Electricity) क्या है | Current in Hindi

विद्युत (Electricity) क्या है | Current in Hindi

दोस्तों आज इस article में हम जानेंगे की Electricity क्या है। Electricity यानी बिजली का इस्तेमाल तो हर कोई कर रहा है लेकिन बहुत कम लोग हैं जिन्हे पता है की Electricity असल में क्या होती है।

इस article में हम आपको Electricity से सम्बंधित संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं। इस article को पढ़ने के बाद आपको Electricity से सम्बंधित सब कुछ पता चल जाएगा जैसे – Electricity क्या होती है, कितने प्रकार की होती है, Electricity के फायदे और नुक्सान क्या हैं, Electricity बनती कैसे है आदि।

Electricity के बारे में सारी जानकारी हासिल करने के article को अंत तक जरूर पढ़ें।

Electricity क्या है?

आसान शब्दों में कहा जाए तो Electricity एक ऐसी ऊर्जा है जिसकी मदद से light, heat और power को generate किया जा सकता है। Electricity से power generate करके machines से कोई भी काम करवाया जा सकता है।

इस दुनिया में हर वस्तु molecules से मिलकर बनी है। Molecules छोटे-छोटे atoms से मिलकर बने होते हैं और atoms तीन parts से मिलकर बने होते हैं जो की हैं protons, neutrons और electrons.

Protons पर positive charge होता है इसलिए protons positive होते हैं, neutrons पर कोई charge नहीं होता है इसलिए neutrons neutral होते हैं और electrons पर negative charge होता है जिसकी वजह से electrons negative होते हैं।

Atom के बीच (केंद्र) में atom का nucleus होता है जिसमे protons और neutrons होते हैं। जबकि electrons atom की orbit में लगातार revolve करते रहते हैं।

Atom में कुछ electrons free होते हैं जो की किसी conductor के through move करते हैं। Conductor के through electrons की movement को current कहते हैं।

Current की वजह से जो light, heat या power पैदा होती है उसे Electricity कहते हैं। आज के समय में हम अपने जीवन को बिजली के बिना imagine नहीं कर सकते हैं। बिजली हमारी रोजमर्रा की जरूरत बन गयी है।

Electricity के प्रकार

Electricity 2 प्रकार की होती है। पहली Static electricity और दूसरी Dynamic electricity. हम आपको electricity के दोनों प्रकार के बारे में विस्तार से बताएंगे।

  1. Static Electricity – Static electricity, material के अंदर या material के surface पर एक तरह का असंतुलन होता है। Static electricity का charge तब तक बना रहता है जब तक की वह electrical discharge या electrical current के माध्यम से दूर जाने में सक्षम न हो।

Static electricity को एक जगह से दूसरी जगह transfer नहीं किया जा सकता है। Static electricity दो चीज़ों को रगड़ने से या friction के कारण produce होती है। जो electricity friction या रगड़ के कारण produce होती है उसे Static electricity कहते हैं।

Static Electricity निचे बताये गए तरीकों से बनती है।

  1. कभी-कभी बालों में कंघी करते समय कंघी की मदद से बाल हवा में खड़े होने लगते हैं जिसका कारण static electricity होती है।
  2. बड़ी-बड़ी Industries में material घुमाते समय static electricity generate हो जाती है।
  1. Dynamic Electricity – Dynamic electricity उसे कहते हैं जिसमे charge conductor के through flow करता है। दूसरे शब्दों में Dynamic electricity को electric current भी कहते हैं।

Dynamic electricity को एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाया जा सकता है। घरों में और हर जगह पर dynamic electricity का इस्तेमाल ही किया जाता है।

- Advertisement -

Dynamic electricity को Nuclear power station, Thermal power station, Hydraulic power station, Solar power station, Wind power station की मदद से बनाया जाता है।

Dynamic electricity दो प्रकार की होती है जिनके बारे में निचे बताया गया है।

  1. Direct Current (DC) – Direct current उस current को कहते हैं जो सिर्फ एक ही दिशा में flow करता है और अपनी दिशा बदलता नहीं है। एक Electrochemical cell जैसे battery Direct current का सबसे अच्छा उदाहरण है। Direct current conductors में तो flow करता ही है लेकिन ये semi-conductors और insulators में भी flow कर सकता है।
  1. Alternating Current (AC) – Alternating current वो होता है जो एक दिशा में flow नहीं करता है अपनी दिशा लगातार बदलता रहता है। Alternating current का इस्तेमाल ज्यादा करा जाता है। घर में हम जिस current का इस्तेमाल करते हैं वो Alternating current होता है।

Electricity का महत्व

वैसे तो बिजली या electricity का महत्व बताने की कोई जरूरत नहीं है लेकिन फिर भी हम कल्पना करते हैं की अगर हमें बिना बिजली के जीवन व्यतीत करना पड़े तो कैसा होगा।

आज हमारी आदत ऐसी हो गयी है की अगर कुछ समय के लिए भी बिजली कट जाती है तो हमारे लिए बिना बिजली के समय निकालना कठिन हो जाता है।

आज का वातावरण इतना खराब हो गया है की बिना AC या coolers के रहना कठिन है। AC और coolers जैसी machines को चलाने के लिए बिजली की आवश्यकता होती ही है। बिना बिजली के ये सब machines काम नहीं करेंगी।

ऐसे में आज के वातावरण में बिना AC या coolers के रहना किसी के लिए भी बहुत कठिन है। जिस प्रकार Global warming बढ़ती जा रही है उस प्रकार आज AC शौंक या trend से ज्यादा लोगों की जरूरत बन चूका है।

आज घर की सफाई करने के लिए भी हम Vacuum cleaners जैसी machines का इस्तेमाल करते हैं जिसे चलाने के लिए भी electricity की आवश्यकता होती है।

पानी को साफ़ करके पिने के लिए आज RO purifiers का इस्तेमाल किया जा रहा है जिसे चलाने के लिए बिजली अनिवार्य है।

Smartphones, Laptops आदि devices को charge करने के लिए भी बिजली ही चाहिए होती है। और सबसे जरूरी आवश्यकता जो हमारे जीवन की है वो है रौशनी। अंधकार में जीवन व्यतीत करना बहुत कठिन होता है। इसलिए सबसे जरूरी आवश्यकता जो है वो light यानी रौशनी है जो की हमें बिजली के कारण प्राप्त होती है।

आज बिजली हमारे जीवन का अभिन्न हिस्सा बन चुकी है। बिजली की मदद से आज हम ऐसी machines और devices का इस्तेमाल कर रहे हैं जिसे हम अपनी रोज़ की ज़िन्दगी में इस्तेमाल करते हैं।

बिजली के बिना जीवन की संभावना करना बहुत कठिन है। बिजली के बिना जीवन व्यतीत करने की कल्पना मात्र से डर लगता है।

Electricity बनती कैसे है?

Electricity बनने के कई तरीके हैं। निचे हमने बिजली बनाने के हर तरीके के बारे में विस्तार से बताया है जिसे पढ़कर आपको पता चल जाएगा की बिजली किन-किन तरीकों से बनाई जाती है।

Turbine

Turbine

Turbine की मदद से बिजली बनाने के लिए बहुत सारे पानी की आवश्यकता होती है। Turbine एक प्रकार की बड़ी motor होती है जो की पानी की मदद से बिजली उत्पन्न करती है।

बड़ी-बड़ी नदियों में जिनमे बहुत सारा पानी होता है उन पर dam बनाकर पानी को एक जगह पर जमा किया जाता है। और जहाँ पर पानी जमा किया जाता है उसके ठीक निचे एक बड़ी turbine लगाई जाती है।

पानी को जमा करने का स्थान निचे रखी turbine से बहुत ऊपर होता है। और ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि turbine को घुमाने के लिए पानी की बहुत रफ़्तार की जरूरत होती है।

बहुत सारे पानी को जब बहुत ऊंचे स्थान से निचे रखी turbine पर छोड़ा जाता है तो पानी की speed और pressure की वजह से turbine बहुत तेज घूमती है। Turbine से एक generator जुड़ा होता है और turbine घूमने के कारण वो generator बिजली produce करता है।

बिजली produce होने के बाद बिजली को power house में store किया जाता है और उसके बाद transmission lines की मदद से बिजली को अलग-अलग स्थानों पर transmit किया जाता है यानि आगे भेजा जाता है। 

इस तरह turbine की मदद से बिजली बनाई जाती है।

Nuclear Power

Nuclear Power

Nuclear power से बिजली बनाना बहुत खतरनाक होता है क्योंकि इसमें nuclear reactors जैसे – Uranium का इस्तेमाल किया जाता है। Uranium बहुत खतरनाक nuclear reactor element होता है।

Nuclear reactor से बिजली उत्पन्न करने के लिए सबसे पहले Uranium को seal बंद metal cylinder में एक बहुत ही ठोस steel capsule में रखा जाता है।

उसके बाद Uranium atoms पर neutrons को fire किया जाता है जिससे वो विभाजित हो जाते हैं और और भी अधिक neutrons को release करते हैं। इस प्रक्रिया को chain reaction कहते हैं।

Produced neutrons और atoms को hit करते हैं जिससे वे और भी ज्यादा विभाजित हो जाते हैं और इस प्रकार chain reaction की प्रक्रिया लगातार चलती रहती है। इस chain reaction की प्रक्रिया में बहुत ज्यादा heat पैदा होती है।

Heat बनने के बाद water को reactor vessel से pass करा जाता है जिसमे chain reaction के कारण तापमान 300°C होता है। Power station के काम करने के लिए पानी का liquid form में रहना जरूरी है। तो पानी को liquid form में रखने के लिए और उसे boil या evaporate होने से रोकने के लिए pressuriser उस पर 155 गुना atmospheric pressure लगाता है।

इसके बाद एक coolant pump hot pressurised water को reactor vessel से steam generator के माध्यम से circulate करता है।

ये hot, pressurised पानी हज़ारों looped pipes में से बहता है और पानी की एक दूसरी धारा pipe के बहार से बहती है। ये पानी बहुत कम pressure में होता है, इसलिए pipes से निकलने वाली गर्मी इसे उबाल देती है और भाप में परिवर्तित कर देती है।

अब ये produced steam यानी भाप कई turbines से pass होती है जिसके कारण turbines घूमती हैं। Turbine के घूमने से steam की heat energy mechanical energy में परिवर्तित हो जाती है।

Turbine से एक shaft जुड़ा होता है जो की आगे एक generator से जुड़ा होता है और shatft एक minute में 3000 revolutions से घूमता है। इसके बाद generator electromagnetic field का इस्तेमाल करके mechanical energy को electrical energy में परिवर्तित कर देता है।

Electrical energy बनने के बाद electricity national grid में जाती है जहाँ पर electrical energy को national grid के हिसाब से high voltage में परिवर्तित किया जाता है। और इसके बाद अंत में transmission lines के जरिये बिजली घरों और अन्य स्थानों तक पहुंचाई जाती है।

इस तरह nuclear power से electricity बनाई जाती है।

GeoThermal Power

GeoThermal Power

ये तो सब जानते हैं की धरती अंदर से बहुत गर्म है। अगर हम एक गड्ढा खोदते हैं और लगातार खोदते जाते हैं तो जैसे-जैसे गड्ढा गहरा होता जाएगा वैसे-वैसे temperature भी बढ़ता जाएगा।

और गड्ढा खोदते समय temperature इसलिए बढ़ता क्योंकि हम धरती के core की तरफ बढ़ते हैं जो की बहुत गर्म होता है। इसलिए जैसे-जैसे हम धरती के core की तरफ बढ़ते जाएंगे वैसे-वैसे तापमान भी बढ़ता जाएगा। और इस तापमान को ही GeoThermal energy कहते हैं।

GeoThermal power धरती के अंदर मौजूद गर्मी को कहते हैं और इससे पैदा होने वाली बिजली को GeoThermal energy या GeoThermal electricity कहते हैं।

अब हम आपको बताएंगे की GeoThermal energy बनती कैसे है।

सबसे पहले गर्म पानी high pressure में ज़मीन के निचे से कुँए के ज़रिये निकाला जाता है। जब पानी धरती की सतह पर आता है तो pressure कम हो जाता जिसके कारण पानी भाप में बदल जाता है।

इसके बाद भाप turbine को घुमाती है जो की एक generator से connect होती है। Turbine के घूमने से बिजली produce होती है और घरों और अन्य स्थलों तक पहुँचती है।

इसके बाद भाप एक cooling tower में चली जाती है जहाँ पर वो पानी में परिवर्तित हो जाती है।  ये प्रक्रिया दुबारा करने के लिए steam से परिवर्तित पानी को वापस धरती में भेज दिया जाता है।

इस तरह geothermal energy produce करी जाती है।

Wind Power

Wind Power

हवा से बनाने वाली ऊर्जा को Wind power या wind energy कहते हैं। हवा से electricity बनाने के लिए बहुत बड़े-बड़े खम्बों पर पंखे लगे होते हैं। इन बड़े-बड़े खम्बों को Wind Mills कहते हैं।

Wind Mills बड़ी-बड़ी और खाली जगहों पर लगाए जाते हैं जैसे – रेगिस्तान आदि। क्योंकि खाली जगहों पर हवा अच्छी चलती है और Wind mills के पंखे अच्छी तरह से घुमते है।

Wind Mill में एक बहुत बड़ा खम्बा होता है जिसके top पर एक बड़ा पंखा लगा होता है। और windmill के अंदर छोटा सा generator होता है जो की windmill के पंखे से से जुड़ा होता है।

हवा चलने पर windmill  घूमता है windmill के घूमने से generator के अंदर electricity produce होती है। इसके बाद ये electricity power house में जाती है और वहां से अलग-अलग कामो के लिए काम में ली जाती है। इस तरह Windmill से electricity produce करी जाती है।

Biomass

Biomass

Biomass का मतलब होता है natural substances से energy को produce करना। Biomass से energy बनाने के लिए natural substances जैसे – गोबर, पेड़-पौधे आदि का इस्तेमाल किया जाता है।

एक boiler में पानी डाला जाता है और boiler को जलाने के लिए गोबर, पेड़-पौधे आदि पदार्थों का इस्तेमाल किया जाता है। Boiler में पड़ा पानी भाप बन जाता है जिसके बाद वो turbine को घुमाता है और turbine एक generator से connect होता है।

Turbine के घूमने से generator में बिजली पैदा होती है और उसके बाद इस बिजली का इस्तेमाल कई काम करने के लिए किया जाता है। इस तरह Biomass से बिजली बनाई जाती है।

Electricity के फायदे

  1. Electricity हमें अँधेरे में रौशनी और ठंडी में गर्मी देती है।
  2. Electricity power को भी generate करती है जिसका इस्तेमाल करके हम कई machines का इस्तेमाल करके अपने जीवन को आसान बनाते हैं जैसे – washing machine, vacuum cleaner, fan आदि।
  3. Electricity का इस्तेमाल करके हम अपने रोज़ इस्तेमाल होने वाले devices को charge करते हैं जैसे – smartphones, laptops आदि।

Electricity के नुक्सान

  1. Electricity में बहुत तेज current होता है जिसकी वजह से कभी-कभी बहुत तेज current लग जाता है और कुछ लोगों की मौत हो जाती है।
  2. Electricity कभी-कभी हमारे devices और machines को नुक्सान भी पहुंचाती है। कभी-कभी घरों में electricity high voltage के रूप में आ जाती है जिसके कारण machines damage (जल) हो जाती हैं।

Electricity से सम्बंधित सवाल

Electricity को हिंदी में क्या कहते हैं?

Electricity को हिंदी में बिजली या विद्युत कहते हैं।

Electricity की Unit क्या है?

Electricity की unit kWh (Kilowatt hour) होती है।

Electricity का आविष्कार किसने और कब किया था?

Electricity का आविष्कार Benjamin Franklin द्वारा 1752 में किया गया था।

निष्कर्ष

इस article में हमने Electricity के बारे में हर एक चीज़ बता दी है। और अगर आपने ये article अंत तक ध्यान से पढ़ा है तो आपको पता चल गया होगा की Electricity क्या है और Electricity कैसे बनती है

हम उम्मीद करते हैं की आपको ये article और इसमें दी गयी जानकारी पसंद आयी होगी। अगर आपको ये article उपयोगी लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ share जरूर करें।

अगर आप Electricity से सम्बंधित हमसे कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो निचे comment कर सकते हैं।

अन्य पढ़े –

- Advertisement -
Editorial Teamhttps://techyatri.com/
The editorial team is a group of individuals in TechYatri.com , who write articles on various topics .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

यह भी पढ़े