जिसका काम उसी को साजे, और करे तो डंडा बाजे | Jiska Kaam Usi Ko Saje, Aur Kare To Danda Baje Story In Hindi

Jiska Kaam Usi Ko Saje, Aur Kare To Danda Baje Story In Hindi- एक धोबी था। उसके यहां एक गधा था और एक कुत्ता। धोबी सवेरे कलेवा करता और गधे पर कपड़ों की लादी लादकर चल देता। नदी पर धोबीघाट पर कपड़े धोता सुखाता और शाम को घर आ जाता। कुत्ता कभी घर पर रहता, कभी घाट पर साथ जाता।

Jiska Kaam Usi Ko Saje, Aur Kare To Danda Baje Story In Hindi

धोबी कुत्ते को बहुत प्यार करता था कुत्ता पूंछ हिलाकर धोबी का स्वागत करता। कुत्ता कभी शरीर को टेढ़ा-मेढ़ा करता और कभी दो पैर धोबी के ऊपर रख देता। जब कुत्ता अधिक प्यार जताता, तो धोबी के मुंह को चाटने लगता था।

यह सब देखकर गधे को बहुत बुरा लगता था। वह सोचता था कि कुत्ता तो करता है। मैं कपड़ों की लादी लादकर ले जाता हूं, उधर से सूखे कपड़े और धोबी के बच्चे अपनी पीठ कुछ भी काम नहीं पर लादकर लाता हूँ। लेकिन धोबी ने मुझे कभी प्यार नहीं किया। धोबी कुत्ते को ही प्यार करता रहता है।

एक दिन गये ने सोचा कि मैं भी कुत्ते की तरह हरकत करके अपने मालिक को प्रसन्न करता हूँ। फिर वह मुझे भी कुत्ते की तरह प्यार करेगा। ऐसा सोचकर वह मौके की तलाश में रहने लगा। एक दिन गधा बाहर लोट-पोटकर घर आया। थोवी आंगन में बैठा हुआ था। संयोग से कुत्ता भी घर पर नहीं था।

गधे को एक अच्छा मौका मिला गया अपनी पूंछ टेढ़ी-मेड़ी करते हुए धोबी की तरफ बड़ा धोबी सोचने लगा, मेरा गया अभी तो ठीक था। बाहर से आते ही पगला गया लगता है। फिर गधे ने अपना शरीर कुत्ते की तरह तोड़ा मरोड़ा धोबी के पास आकर दो पैरों से खड़ा हो गया। पैरों को धोबी की जांघों पर रखने की कोशिश करने लगा। धोबी उठकर दूर खड़ा हो गया। अब तो धोबी को पूरा विश्वास हो गया कि गया पागल हो गया है।

धोबी ने डंडा उठाया और गधे को मारना शुरू कर दिया। जब गधा मार खा चुका, तो वह बिना रिलेन्दुले चुपचाप छूटे के पास जाकर खड़ा हो गया। थोड़ी ही देर में बाहर से कुत्ता आ गया और पूंछ हिलाकर प्यार जताते हुए उसने अपने दोनों पैर धोबी की गोद में रख दिए। गधा बड़े गौर से इस दृश्य को देख रहा था। उसी समय धोबी की नजर गधे पर पड़ी, उसे गधे की हरकत का कारण समझते देर नहीं लगी।

इसी बीच एक पड़ोसी ने आकर धोबी से पूछा, “भाई, क्या बात है? आज तो गधे की अच्छी तरह पिटाई कर दी। पड़ोसी की बात सुनने के बाद उसने पूरी घटना सुनाई। तब पड़ोसी बोला, अच्छा, यह बात है। कुत्ते की नकल कर रहा था। इस गधे को क्या मालूम कि ‘जिसका काम उसी को साजे, और करे तो डंडा बाजे’।

अन्य हिंदी कहानियाँ एवम प्रेरणादायक हिंदी प्रसंग के लिए चेक करे हमारा मास्टर पेजHindi Kahani

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles