सबसे उजली वस्तु | Sabse Ujli Vastu Story In Hindi

Sabse Ujli Vastu Story In Hindi- एक बार बादशाह अकबर ने दरबारियों से सवाल पूछा कि दुनिया में सबसे उजली वस्तु कौन-सी है?, दरबारी थोड़ी देर विचार करते रहे, फिर उनमें से एक कहा, “जहाँपनाह! दुनिया में सबसे उजली वस्तु रूई है। ” ने ‘दूसरे दरबारी ने कहा, “दुनिया में सबसे उजली वस्तु दूध है।

Sabse Ujli Vastu Story In Hindi

“फिर तो रुई और दूध दोनों में से अधिक उजली वस्तु कौन-सी है, इसी की चर्चा होने लगी। यह देखकर बीरबल को हँसी आ गई। अकबर ने उन्हें देखकर कहा, “बीरबल, तुम्हें हँसी क्यों आ रही है? क्या तुम कुछ और कहना चाहते हो?” बीरबल ने कहा, “सरकार! मैं तो मानता हूँ कि प्रकाश सबसे अधिक उजली वस्तु है।

प्रकाश के बिना हर चीज़ काली है, वह चाहे रूई हो या दूध। “देखो बीरबल! सिर्फ कह देने से ही कुछ नहीं होगा, तुम्हें अपनी बात सिद्ध करनी होगी। “बीरबल ने कहा, “जब समय आएगा तब मैं इसे सिद्ध कर दूँगा।” बादशाह ने उनकी बात मान ली और दरबार बरखास्त हो गया।

कुछ दिनों के बाद बीरबल बादशाह से मिलने महल में “गए। बादशाह सिर पकड़ कर बैठे थे। बीरबल ने पूछा, ‘क्या हुआ जहाँपनाह? “मेरे सिर में बहुत दर्द है। इसलिए मुझे कुछ भी अच्छा नहीं लग रहा है। “बीरबल ने कहा, “कई बार अधिक प्रकाश के कारण ऐसा होता है। आप थोड़ी देर के लिए सिर पर कपड़ा बाँध कर सो जाइए। मैं कमरे के दरवाजे और खिड़कियाँ बन्द कर देता हूँ।

“अकबर सिर पर कपड़ा बाँध कर सो गए। बीरबल ने उनके कमरे के दरवाजे के पास रूई का ढेर लगा दिया। रूई के ढेर के पास ही एक पतीली में दूध भरकर रख दिया। खिड़की दरवाजे बन्द करने के बाद वे बाहर जाकर बैठ गए। सभी दरवाजे-खिड़कियाँ बन्द होने के कारण कमरे में अँधेरा हो गया।

इसलिए बादशाह को गहरी नींद आ गई। एक घंटे के बाद जब वे जागे, तो उनका सिर हल्का हो गया था।वह कमरे से बाहर निकलने के लिए उठे, अँधेरे में दरवाजा खोजते खोजते उनका पैर रूई के ढेर पर पड़ गया। वह वहाँ से कुछ हटकर जाने लगे तो दूध की पतीली से टकरा गए। जैसे तैसे उन्होंने दरवाजा खोला।

दरवाजा खुलते ही कमरे में उजाला हो गया। उन्होंने दरवाजे के पास रूई का ढेर और दूध की पतीली देखी। बाहर आकर उन्होंने बीरबल से पूछा, “यह सब तुमने क्या तमाशा किया है बीरबल ! कमरे में तुमने रूई और दूध की पतीली क्यों रखवाई है?” बीरबल ने कहा, “जहाँपनाह! कमरे में अँधेरा हो गया था।

आप अँधेरे में दरवाजा ठीक से देख सकें, इसलिए मैंने दो उजली वस्तुएँ आपके कमरे में रखवाई थीं। “अकबर ने कहा, “कोई वस्तु चाहे जितनी उजली हो, पर जब तक उस पर प्रकाश नहीं पड़ता, तब तक उसे कैसे देखा “जा सकता है? “बीरबल ने कहा, “एक महीने पहले मैंने भी आपसे यही कहा था। तब आप मेरी बात नहीं मान रहे थे। अब आपको मेरी बात पर विश्वास हो गया न कि सबसे अधिक उजली वस्तु प्रकाश है।”

अन्य हिंदी कहानियाँ एवम प्रेरणादायक हिंदी प्रसंग के लिए चेक करे हमारा मास्टर पेजHindi Kahani

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest Articles