Home TECHNOLOGY Telescope क्या है और Telescope का अविष्कार किसने किया ?

Telescope क्या है और Telescope का अविष्कार किसने किया ?

आपने Telescope यह नाम बहुत बार सुना होगा लेकिन क्या आप जानते है की Telescope क्या है ? अगर नहीं जानते तो आज के इस आर्टिकल हम आपको बताने वाले है की Telescope क्या होता है और इसके कितने types होते है. दोस्तों जब भी हम अंतरिक्ष की ओर देखते है हमारा मन उत्सुकता से भर जाता है. हम चाहते है की हमें आसमान और भी नजदीक से देखने मिले. और हमारी इसी इच्छा को पूरा करने के लिए telescope ने बहुत ही ज्यादा सहायता की है !

telescope के अविष्कार से ही हम ब्रम्हांड में होने वाले सभी अजूबो को नजदीक से देख सकते है. लेकिन क्या आप जानते है की इस telescope का अविष्कार किसने किया ? आज के इस आर्टिकल में हम telescope से जुड़े सभी सवालो के जवाब आपको देने वाले है. इसी लिए अगर आप भी telescope के बारे में जानकारी पाने के लिए उत्सुक है तो इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े. क्योकि इस आर्टिकल में आपको telescope से जुड़े सभी सवालो के जवाब मिलने वाले है !

Telescope क्या है ? What is telescope in hindi

Telescope एक ऐसा यंत्र है जिसका इस्तेमाल दूर स्थित वस्तुओ को देखने के लिए किया जाता है. Telescope साधारणतया उस प्रकाशीय तंत्र (optical system) को कहते हैं जिससे देखने पर दूर की वस्तुएँ बड़े आकार की और स्पष्ट दिखाई देती हैं. telescope को हिंदी भाषा में दूरदर्शी कहा जाता है और बोलचाल की भाषा में इसे दूरबीन कहा जाता है !

telescope निस्संदेह खगोल विज्ञान में सबसे महत्वपूर्ण खोजी उपकरण है. यदि आप भी दूर के ग्रहो को या किसी वास्तु को देखना चाहते है तो इसके लिए आप telescope का इस्तेमाल कर सकते है. जिससे आपको छोटी वास्तु बड़े आकर की नजर आती है !

definition of telescope in hindi

Telescope एक ऐसी दूरबीन है जिसकी मदत से हम अंतरिक्ष में मौजूद स्टार्स , प्लैनेट्स , एस्ट्रोइड आदि को बड़ी आसानी से देख सकते है यानि की टेलिस्कोप एक ऐसा उपकरण है जिसका उपयोग दूर की वस्तुओं को देखने के लिए किया जाता है !

यह भी पढ़ें –
> एटीएम (Automated Teller Machine) क्या है ?
> सर्वर क्या है और सर्वर के प्रकार – what is server in hindi
> Optical Sensor Technology Kya Hai ? और कहा इस्तेमाल की जाती है
> पवन चक्की कैसे काम करती है ?
> Motherboard क्या है – मदरबोर्ड की पूरी जानकारी हिंदी में

Telescope का अविष्कार किसने किया

दोस्तों Telescope का अविष्कार Hans Lipperhey ने 25 sep 1608 किया था. उनके Telescope का अविष्कार करने के पीछे बहुत बड़ी कहानी जो आपको निचे विस्तार से बताई गयी है की Hans Lipperhey ने Telescope कैसे किया. आज से नहीं बल्कि सदियों ब्रम्हांड इंसानो को अपनी और आकर्षित करता आ रहा है इसी अट्रैक्शन ने हमें ब्रम्हांड को समझने में प्रेरित किया है. और ब्रम्हांड को समझने में हमारी सबसे ज्यादा मदत की है Telescope ने. जिसके कारण हमने कही तारो , ग्रहो और आकाश गंगा के बारे में जानकारी प्राप्त की है !

Telescope का अविष्कार कैसे हुवा – History of telescope

जैसा की हमने जाना की Telescope का अविष्कार Hans Lipperhey ने किया है. लेकिन क्या आप जानते है की उनके मन में यह आयडिया आया कैसे ? तो इसका कारण है उनका बेटा. Hans Lipperhey का बेटा हमेशा रंग बेरंगी काँचो से खेलता रहता था. एक बार बार Hans Lipperhey ने अपने बेटे को एक रंग वाले काँचो को अलग करने के लिए कहा. तो उनका बेटा सभी रंगो के काँचो को अपनी आँखों से लगाकर देखने लगा !

तभी कुछ अलग-अलग रंगो के काँचो को उसने मिला कर देखा उसने देखा की उसके घर की दीवार उसे पास दिखने लगी जो की उससे दूर थी. उसके बाद उसने यह बात अपने पापा यानि Lipperhey को बताई और उन काँचो को देखने के लिए कहा. तब इस घटना को देख कर Lipperhey से भी हैरान हो गए. क्योकि उनके घर की दीवार लगभग उन्हें तीन गुना पास दिखाई दे रही थी !

Hans Lipperhey इस चीज को देख कर काफी खुश हुए क्योकि उन्हें दूर की चीजों को पास देखने की तरकीब मिल गयी थी. इसके बाद Hans Lipperhey ने दुनिया का पहला Telescope बनाया. Hans Lipperhey द्वारा बनाये गए इस Telescope को सैनिको और नाविकों ने उपयोगी समझा. इसी लिए telescope का पहला उपयोग सैनिको , जासूसों और नाविकों द्वारा अपने प्रतिद्वंदी पर नजर रखने के लिए किया गया !

Galileo Galilei द्वारा बनाया गया telescope

1609 में इटली के महान वैज्ञानिक Galileo Galilei ने Hans Lipperhey के telescope के अविष्कार के पश्चात् अपना खुद का एक telescope बनाया. और पहली बार astronomical observation में इसका उपयोग किया जब Galileo ने अपने telescope को आकाश की और डायरेक्ट किया तब उन्होंने इतनी बड़ी दुनिया देखि जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी !

Galileo Galilei ने अपने telescope की सहायता से चंद्र माँ पर उपस्थित क्रियेटर और बृहस्पत ग्रह के चार उपग्रहों सहित सूर्य के साथ परिक्रमा करने वाले सोलर स्पॉट का भी पता लगाया. Galileo ही वह वैज्ञानिक थे जिन्होंने यह पता लगाया की पृथ्वी के सबसे निकट का तारा proxima centauri है जो की हमारी पृथ्वी से 4.24 Light Years की दुरी पर है !

इसके अतिरिक्त Galileo ने हमें शुक्र के कलाओ के बारे में बताया तथा कॉपर निकस के सूर्य केन्द्री सिद्धांत Heliocentrism को प्रमाणित भी किया. जिसमे बताया गया था की पृथ्वी सूर्य के और चक्कर लगाती है. Galileo का telescope एक Refractive Telescope मतलब अपवर्तक दूरदर्शी था !

Newton द्वारा बनाया गया telescope

जैसा की हम सब जानते है की विज्ञानं के विकास के लिए किसी वैज्ञानिक ने सबसे अधिक महत्वपूर्ण योगदान दिया है तो वह है Isaac Newton. Newton ने एक नई औधारना को जन्म दिया था की जब किसी वस्तु के स्वभाविक रंग पर रंगीन प्रकाश डाला जाता है तो यह पारस्परिक क्रिया के कारण वस्तु के रंग में परिवर्तन करता है. विभिन्न रंगो के संयोजन से नया रंग प्राप्त होता है इस थेरी को newton के Colour Theory के नाम से जानते है !

अपने इस Theory को प्रैक्टिकली प्रूव करने के लिए newton ने एक विशेष प्रकार के Refractive Telescope मतलब अपवर्तक दूरबीन का निर्माण किया. जिसे अब Neotonian Telescope के नाम से जाना जाता है. जैसा की हम सब जानते है की Newton के पहले ही Telescope का अविष्कार हो चूका था और पहले के telescope में लेंस का प्रयोग होता था. लेंस के प्रयोग के कारण बहुत ज्यादा Refraction होता था जिससे image धुंदले होते थे इस घटना को OPTICAL ABERRATION कहा जाता है. newton ने अपने इस scope में लेंस की जगह पर Mirrors का इस्तेमाल किया जिससे Optical Aberration की समस्या दूर हो गयी !

Types Of Telescope in hindi

- Advertisement -

Telescope के मुख्य रूप से दो types होते है.

  • परावर्तक दूरदर्शी (Refracting Telescope)
  • अपवर्तक दूरदर्शी (Reflecting Telescope )

1. परावर्तक दूरदर्शी (Refracting Telescope)

एक Refracting Telescope (जिसे रेफ्रेक्टर भी कहा जाता है) एक प्रकार का ऑप्टिकल टेलीस्कोप है जो लेंस का उपयोग अपने उद्देश्य के रूप में एक छवि बनाने के लिए करता है. रीफ्रैक्टिंग टेलिस्कोप डिजाइन का उपयोग मूल रूप से स्पाई ग्लास और खगोलीय टेलिस्कोप में किया जाता था. लेकिन इसका उपयोग लंबे फोकस कैमरा लेंस के लिए भी किया जाता है. Newton द्वारा बनाया गया Telescope Newtonian telescope भी एक परावर्तक दूरदर्शी है !

Refracting Telescope के फायदे

  • इसके उपयोग से छवि और भी ज्यादा स्पष्ट दिखाई देती है.
  • यह अपवर्तक दूरदर्शी की तुलना में सस्ती होती है.
  • इसकी आवर्धन क्षमता और विभेदन क्षमता अधिक होती है.

2. अपवर्तक दूरदर्शी (Reflecting Telescope )

अपवर्तक दूरदर्शी में दो प्रकार की Objective lens use की जाती है.

  1. खगोलीय दूरदर्शी (Astronomical Telescope)
  2. पर्थिव दूरदर्शी (Terrestrial Telescope)

1. खगोलीय दूरदर्शी (Astronomical Telescope)

आपके मन में यह सवाल जरूर आता होगा की telescope में कौनसे lens का use किया जाता है तो Astronomical Telescope यानि की खगोलीय दूरदर्शी का उपयोग आकाशीय पिंड को देखने के लिए किया जाता है जैसे की दूर स्थित प्लेनेट , चंद्र माँ , शुक्र गृह , बुध गृह , धूमकेतु , पुच्छल तारे etc.

2. पर्थिव दूरदर्शी (Terrestrial Telescope)

पार्थिव दूरदर्शी(terrestrial telescope) का उपयोग हमे अपनी पृथ्वी पर दूर स्थित कोई वस्तु देखने के लिए किया जाता है. Galilean telescope भी पार्थिव दूरदर्शी में आता है. उदाहरण के लिए समुंदर में दुसरे जहाजों पर नजर रखने के लिए नौ सैनिक इसका इस्तेमाल करते है.

Uses of telescope in hindi

  • Telescope का उपयोग दूर की चीजों को पास देखने के लिए किया जाता है.
  • अस्पतालों में , प्रयोग कक्षा में micro telescope का उपयोग विभिन्न चीजों के लिए किया जाता है.
  • वैज्ञानिक telescope का उपयोग अंतरिक्ष का परीक्षण करने के लिए करते है.
  • सैनिकी जहाजों पर telescope का उपयोग अपने प्रतिद्वंदी पर नजर रखने के लिए किया जाता है.

conclusion

आज आपने सीखा Telescope क्या है? और Telescope का अविष्कार किसने किया और telescope से जुडी अन्य जानकारी जैसे telescope का अविष्कार , telescope का इतिहास , telescope types. आशा करते है आपको यह लेख पसंद आया होगा अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे !

साथ ही वेबसाइट के नोटिफिकेशन बेल को भी ऑन कर दे ताकि आने वाले समय में आप कोई भी आर्टिकल मिस ना करे. क्योकि हम ऐसे ही हेल्पफुल आर्टिकल आपके लिए रोजाना लाते रहते है. अगर आपको इस आर्टिकल से जुडी कोई भी समस्या हो तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है धन्यवाद !

- Advertisement -
Raj d Rajputhttps://techyatri.com/
Raj d Rajput is the Author & Co-Founder of the TechYatri.com. He has also completed his graduation in Computer Science from Pune (mahatrashtra) . He is passionate about Blogging & Digital Marketing

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

यह भी पढ़े

फुल स्टैक डेवलपर (Full Stack Developer) Meaning In Hindi

अगर आप सॉफ्टवेयर फील्ड से जुड़े हुए हो तो आप हमेशा ही full stack developer यह शब्द सुनते होंगे।...

Notepad (नोटपैड) Se Software Kaise Banaye

अगर आप नोटपैड से सॉफ्टवेयर बनाना चाहते हो तो यह पोस्ट ध्यान से पढ़े. इसमें हम देखने वाले है...

Notepad (नोटपैड) Se Website Kaise Banaye

आज हम देखने वाले है की नोटपैड से हम वेबसाइट कैसे बना सकते है - आप लोग नोटपैड को...

CDN क्या है और एक वेबसाइट के लिए CDN क्यों जरुरी होता है ?

जानिए CDN Kya Hai - वर्तमान समय में इंटरनेट पर लगबघ 1 अरब से ज्यादा Websites और Blogs मौजूद...

नोटपैड (Notepad) Se Game Kaise Banaye

नोटपैड कंप्यूटर/लैपटॉप में दिया हुआ एक फ्री text editor सॉफ्टवेयर होता है और लोग अक्सर इसका इस्तेमाल काफी बेसिक...

Music