HomeINTERNETडिजिटल मार्केटिंग के फायदे - benefits of digital marketing in hindi

डिजिटल मार्केटिंग के फायदे – benefits of digital marketing in hindi

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम देखने वाले है डिजिटल मार्केटिंग के फायदे – benefits of digital marketing in hindi दोस्तों दुनिया में हर दिन लाखो करोडो लोग इंटरनेट का इस्तेमाल कर घर बैठे अपने जरूरत में आने वाले सामान को खरीदते है. फिर चाहे यह खरीददारी त्योहारों के लिए हो , शादी के लिए हो या फिर निजी इच्छा के लिए हो. पिछले कुछ सालो में लोगो का शॉपिंग करने का तरीका बिलकुल बदल गया है !

अब पहले की तरह लोग बाजारों में जा कर सामान नहीं खरीदते. बल्कि ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट पर जाकर सामान देखते है और पसंद आने पर ऑनलाइन खरीददारी भी कर लेते है. इसलिए जो लोग बिजनेस करते है जैसे कपड़ो की दुकान , किराने की दुकान या फिर खिलोनो की दुकान चलाते है उनका कारोभार ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट की वजह से बंद सा हो गया है. उन लोगो के लिए ऑफलाइन बिजनेस करना मुश्किल सा हो गया है !

इसी लिए हम आज आपके लिए एक ऐसी तरकीब ले कर आये है जो आपके इस समस्या को पूरी तरह से दूर कर देगी. उस तरकीब का नाम है डिजिटल मार्केटिंग. आज हम आपको बताएँगे डिजिटल मार्केटिंग के फायदे और साथ ही बातएंगे इसकी जरुरत बिजनेस के लिए क्यों है और इसका इस्तेमाल कहा और कैसे करना है इन सारे सवालो के जवाब आज आपको इस लेख के माध्यम से मिलने वाले है !

डिजिटल मार्केटिंग क्या है – What is digital marketing

डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट , कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के जरिये की जाने वाली मार्केटिंग है. जिसके जरिये कोई भी कंपनी अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग करके बहुत कम समय में अपने टारगेट कस्टमर तक पहुंचा सकती है. जिसे ऑनलाइन मार्केटिंग भी कहा जाता है. जब कोई कंपनी अपने बिजनेस या फिर किसी नए प्रोडक्ट को लॉन्च करती है तो उसे ढेर सारे लोगो तक पहुँचाने के लिए मार्केटिंग करती है !

मार्केटिंग का मतलब है सही जगह और सही समय पर अपने कस्टमर से कनेक्ट होना. और आज के दौर में आपको आपके कस्टमर से उस जगह कनेक्ट होना होगा जहा वह अपना पूरा समय गुजारता है और वह जगह है इंटरनेट. भारत में लगभग सभी वर्ग के लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते है. और हर दिन इसकी संख्या बढ़ रही है चाहे बड़ी-बड़ी कंपनी हो या छोटी कंपनी हो हर कोई मार्केटिंग करने के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करता है !

जिस तरह से कोई कंपनी अपने प्रोडक्ट का एडवर्टिजमेंट बड़े-बड़े पोस्टर , बैनर और पैम्फलेट के द्वारा प्रोमोट करते है ठीक उसी तरह से ऑनलाइन इंटरनेट मार्केटिंग या डिजिटल मार्केटिंग से भी किया जाता है. ऑफलाइन मार्केटिंग हो या ऑनलाइन मार्केटिंग हो दोनों का ही मुख्य उद्देश्य है ज्यादा से ज्यादा लोगो तक अपने ब्रांड को पहुँचाना. ऑफलाइन मार्केटिंग में प्रोडक्ट के विज्ञापन के लिए ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ते है. लेकिन डिजिटल मार्केटिंग से आप बहुत ही कम लागात में दुनियाभर के लोगो तक पहुँच सकते है !

डिजिटल मार्केटिंग के फायदे – benefits of digital marketing in hindi

1) DIGITAL MARKETING IS NOT EXPENSIVE

दोस्तों अगर हम ऑफलाइन मार्केटिंग की बात करे तो आपको अपने प्रोड्कट का या कंपनी का एडवर्टिजमेंट करने के लिए किसी भीड़ वाले इलाके में बैनर लगाने पड़ते है. और जाहिर सी बात है अगर आपको अपना बैनर किसी भीड़ वाले इलाके में लगाना है तो आपको पैसे भी ज्यादा देने पड़ते है. अगर न्यूज़ पेपर की बात करे तो उसके लिए भी आपको छोटी ऐड देने के लिए ज्यादा पैसे देने पड़ते है. और इतना सबकुछ करने के बाद भी हमें नहीं पता होता की कितने लोगो ने इसे देखा !

लेकिन हम डिजिटल मार्केटिंग की बात करे तो अगर आपका बजट ५०० रुपये है तो आप ५०० रुपये के साथ ही अपनी एडवर्टिजमेंट कर सकते हो. अगर आपका बजट १००० रुपये है तो आप १००० रुपये के साथ भी एडवर्टिजमेंट कर सकते हो. साथ ही आप यह भी जान सकते हो की आपके एडवर्टिजमेंट को कितने लोगो द्वारा देखा गया. अगर आपको अच्छा रिस्पॉन्स मिलता है तो आप अपना बजट बढ़ाकर और ज्यादा लोगो तक उस ऐड को पहुंचा सकते हो !

लेकिन अगर हम ऑफलाइन मार्केटिंग की बात करे तो आप ऑफलाइन मार्केटिंग में यह सब नहीं कर सकते. अगर आपने एक बार पैसे पे कर दिए तो आप बाद में कुछ भी नहीं कर सकते. चाहे उस बैनर को कोई देखे या ना देखे. इससे खर्चा भी बढ़ता है और आपका बिजनेस बिलकुल भी ग्रो नहीं होता. लेकिन डिजिटल मार्केटिंग इससे बिलकुल उल्टा है आपको खर्चा भी कम आता है और आपका प्रोडक्ट ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुँच पाता है !

2) TARGET AUDIENCE –

दोस्तों अगर हम बात करे डिजिटल मार्केटिंग के दूसरे बेनिफिट की तो वह यह टारगेट ऑडियंस. अगर मान लीजिये आपके पास कोई प्रोडक्ट है और वह सिर्फ फीमेल के लिए है. और अगर आप चाहते है की आपकी जो ऐड है वह ज्यादा से ज्यादा फीमेल्स तक पहुंचे तो आप ऐसा कर सकते है डिजटल मार्केटिंग के माध्यम से. और साथ ही आप वहा पर उम्र भी फिक्स कर सकते यानि आपका जो ऐड है वह कितने उम्र वाली महिलाओ तक पहुंचे !

दोस्तों टारगेट ऑडियंस डिजिटल मार्केटिंग में तो पॉसिबल है लेकिन अगर हम बात करे ऑफलाइन मार्केटिंग की चाहे वह होल्डिंग के जरिये हो या न्यूज़ पेपर के जरिये हो. तो उस जगह पर हमारी राइट ऑडियंस को टारगेट करना बहुत ही मुश्किल होता है इसी लिए यह एक बहुत बड़ा बेनिफिट है डिजिटल मार्केटिंग का. कम पैसे और टारगेट ऑडियंस !

3) TRACK PERFORMANCE –

- Advertisement -

दोस्तों आप डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से अपने प्रोग्रेस को ट्रैक भी कर सकते हो. बहुत से ऐसे एडवांस टूल उपलब्ध है जिसकी मदत से आप अपने प्रोग्रेस को ट्रैक भी कर सकते है. अगर मान लीजिये आपने डिजिटल मार्केटिंग माध्यम द्वारा १० ऐड रन किए है. तो आप टूल की मदत से समझ सकते है की इन १० ऐड में से कोनसा ऐसा ऐड है जिसपर कस्टमर ज्यादा फोकस कर रहे है !

तो आप उस चीज को एनलाइस करके उसपर और ज्यादा काम कर सकते है. और उसी से रिलेटेड अन्य सोशल मीडया प्लेटफार्म पर और ऐड भी चला सकते है. और साथ ही जिस ऐड पर लोग ज्यादा फोकस नहीं कर रहे है उन ऐड को बंद कर आप उसका बजट भी अपने दूसरे ऐड में डाल सकते है. यह एक बहुत ही बेहतरीन सुविधा आपको डिजिटल मार्केटिंग की माध्यम से मिल जाती है !

इससे उल्टा अगर हम बात करे ऑफलाइन मार्केटिंग की तो यहाँ पर आपके पास कोई भी ऐसा टूल मौजूद नहीं होता , आपके पास कोई गारंटी नहीं होती है , आपको कोई ऐसा डैशबोर्ड नहीं मिलता जिससे आपको पता चल सके की आपका कोनसा ऐड कितने लोगो द्वारा देखा जा रहा है , कितने लोग उससे प्रभावित हो रहे , किस उम्र के लोग प्रभावित हो रहे है. लेकिन डिजिटल मार्केटिंग में आपको यह सब देखने मिलता है !

4) LOCATION CENTRIC –

दोस्तों डिजिटल मार्केटिंग में लोकेशन कंट्रोल सिस्टम भी मौजूद है. उदाहरण के लिए अगर आपका मुंबई के लोकेशन पर कोई डिजिटल मार्केटिंग इंस्टीट्यूट है. और आप लोगो को डिजिटल मार्केटिंग सिखाते है. और आप अपने इंस्टीट्यूट की ऐड करना चाहते हो डिजिटल मार्केटिंग द्वारा. तो जाहिर सी बात है आप चाहेंगे की आपकी ऐड उन लोगो तक पहुंचे जो सच में डिजिटल मार्केटिंग सीखना चाहते है !

और आप सभी तो जानते है की आपके लोकेशन से ५० से ६० किलोमीटर दूर के लोकेशन में आपका ऐड दिखे तो इतनी दूर से कोई आपसे डिजिटल मार्केटिंग सिखने नहीं आएगा. तो आप चाहेंगे की आपके लोकेशन से ८ से १० किलोमीटर तक जितने भी लोग डिजिटल मार्केटिंग सीखना चाहते है उन लोगो तक आपका ऐड पहुंचे. और वही आपकी टारगेट ऑडियंस है !

तो ऐसे में आप डिजिटल मार्केटिंग माध्यम की मदत से ऐसा कर सकते है. आप अपने लोकेशन से ८ से १० किलोमीटर दूर ऐसे लोगो को टारगेट कर सकते है जो डिजिटल मार्केटिंग सीखना चाहते है. आपके लोकेशन के आस-पास जो जो लोग इस डिजिटल मार्केटिंग के बारे में सर्च कर रहे है उन लोगो तक आप अपना ऐड पहुंचा सकते है. वह भी बहुत कम खर्चे के साथ !

डिजिटल मार्केटिंग क्यों ज़रूरी है ?

डिजिटल मार्केटिंग डिजिटल तकनीक द्वारा ग्राहकों तक पहुँचने का एक सरल मार्ग है. जब स्मार्ट फोन नहीं हुवा करता था तब लोग टीवी , अख़बार , मैगजीन और रेडिओ का इस्तेमाल ज्यादा करते थे. तब इन सभी जगहों पर अनगिनत कंपनिया अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन दे कर प्रचार करते थे. और लोग उन्ही विज्ञापनों को देखकर बाजार से प्रोडक्ट खरीदकर लाते थे !

लेकिन इन स्मार्ट फोन के दौर में अधिकतर लोग खास कर युवा वर्ग अपना पूरा समय फेसबुक , इंस्टाग्राम और व्हाट्सअप पर बिताते है. टीवी की जगह यूट्यूब पर विडिओ देखते है. रेडिओ की जगह अलग अलग ऍप पर गाने सुनते है. और अख़बार की जगह ऑनलाइन न्यूज़ पढ़ते है. यही कारन है की अब कंपनिया अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन डिजिटल तरीको से कर रही है. और उन्ही जगह पर अपने ऐड चलाते है जहा पर ज्यादातर इंटरनेट यूजर पाए जाते है !

डिजिटल मार्केटिंग के जरिये कंपनी को अधिक ग्राहकों तक अपने प्रोडक्ट को पहुँचाने में मदत मिलती है. पहले के समय में लोगो का बाजार जाकर सामान पसंद करने और खरीदने में जो समय लग जाता था आज उससे भी कम समय में लोग घर बैठे इंटरनेट से अपने मनपसंद सामान की शॉपिंग कर लेते है. डिजिटल मार्केटिंग से केवल ग्राहकों को नहीं बल्कि व्यापारियों को भी व्यापर करने में बहुत फायदा मिल रहा है !

क्योकि इससे यह बहुत कम समय में ज्यादा ग्राहकों से जुड़ पा रहे है. जिससे उनकी उत्पाद की बिक्री में तेजी हो रही है. डिजिटल मार्केटिंग की मांग वर्तमान समय में ज्यादा देखने को मिल रही है. क्योकि डिजिटल मार्केटिंग में कम लागत में ज्यादा मुनाफा होता है. केवल वर्तमान समय में ही नहीं भविष्य में भी डिजिटल मार्केटिंग की मांग काफी ज्यादा होने वाली है. और आने वाले समय में ऑफलाइन मार्केटिंग लगभग पूरी तरह से समाप्त हो जाएगी !

डिजिटल मार्केटिंग कहा और कैसे इस्तेमाल की जाती है ?

  • BLOGGING

दोस्तों ब्लॉगिंग ऑनलाइन या डिजिटल मार्केटिंग करने का सबसे बेहतर और सबसे अच्छा तरीका है. इसमें आपको अपने कंपनी के नाम से ब्लॉग बनाना होता है. जिसमे आप अपने कंपनी द्वारा दिए जाने वाले सभी सर्विसेस के बारे में बता सकते है. और जब भी आपके नए-नए प्रोडक्ट लॉन्च हो तो उसका डिटेल भी आप इसमें ऐड कर सकते है. और आप इससे बहुत सारे ग्राहकों को अपनी और आकर्षित कर सकते है !

  • CONTENT MARKETING –

कॉन्टेंट मार्केटिंग में आप अपनी कंपनी द्वारा बनाये गए सभी प्रोडक्ट की जानकारी एक कॉन्टेंट के रूप में लिख सकते है. आपको लिखने के लिए कॉन्टेंट भी सही और आकर्षक रूप से बनाना होगा. जिसमे प्रोडक्ट के डील्स और ऑफर्स भी बताने होंगे. इसमें पढ़ने वाले यूजर्स को आपकी बाते अच्छी लगेगी और आपके व्यापर की लोकप्रियता भी बढ़ेगी. जिससे प्रोडक्ट की सेलिंग भी ज्यादा होगी !

  • SEARCH ENGINE OPTIMIZATION (SEO) –

अगर आप सर्च इंजिन के द्वारा अपने ब्लॉग पर बहुत सारा ट्रैफिक या कस्टमर पाना चाहते है तो आपको SEO ( SEARCH ENGINE OPTIMIZATION ) का पूरा ज्ञान होना बहुत ज़रूरी है. अगर यूजर्स को कुछ भी इन्फॉर्मेशन चाहिए होता है तो वह गूगल का इस्तेमाल करते है. और गूगल SEO का इस्तेमाल कर उस जानकरी को लोगो के सामने प्रस्तुत करता है. अगर आपकी वेबसाइट गूगल सर्च में ऊपर आती है तो ज्यादा लोगो को आपके ब्लॉग और आपके व्यापर के बारे में पता चलेगा. इसीलिए आपको आपकी वेबसाइट गूगल के दिए SEO गाइड लाइन के मुताबिक बनानी पड़ेगी. ताकि अच्छी खासी ऑर्गनिक ट्रैफिक आपके ब्लॉग पर आ सके !

  • SOCIAL MEDIA MARKETING –

सोशल मिडिया डिजिटल मार्केटिंग का महत्वपूर्ण हिस्सा है. सोशल मिडिया पर व्यापारी न सिर्फ अपने प्रोडक्ट और सर्विसेस को प्रोमोट कर सकता है. बल्कि वह यह भी जान सकता है की यूजर्स उनके प्लांट के बारे में क्या बाते कर रहे है. सोशल मिडिया मार्केटिंग आपके व्यापर के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होता है. सोशल मिडिया मार्केटिंग में आप फेसबुक , ट्विटर , लिंकडिन , इंस्टाग्राम , स्नैपचैट और पिंटरेस्ट पर आप अपने बिजनेस का ऐड दे सकते है !

  • GOOGLE ADWORDS –

आप जब भी कोई ब्लॉग पढ़ते है तो आपने ब्लॉग पढ़ते समय बहुत से विज्ञापन देखे होंगे. अधिकतर विज्ञापन गूगल द्वारा दिखाए जाते है. गूगल एडवर्ड की मदत से कोई भी व्यापारी अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग कर सकते है. यह एक पेड सर्विस है जिसके लिए आपको गूगल को पैसे देने पड़ते है. गूगल इन विज्ञापनों को अच्छी तरह की वेबसाइट और ब्लॉग पर दिखाता है. जिससे की आप अपने टारगेट ऑडियंस तक अपने व्यापर और प्रोडक्ट को पहुंचा सकते है. गूगल एडवर्ड के द्वारा आप कई तरह के विज्ञापन चला सकते है. जैसे की टेक्स ऐड , इमेज ऐड , विडिओ ऐड , वेब बैनर आदि !

  • APPS MARKETING –

इंटरनेट पर बहुत सारी कंपनिया ऍप बनाकर लोगो तक पहुँचने और अपने प्रोडक्ट का प्रचार करने को ऍप मार्केटिंग कहते है. यह डिजिटल मार्केटिंग का बहुत ही अच्छा विकल्प है. क्योकि आजकल बड़ी संख्या में लोग अपने स्मार्टफोन में ऍप इस्तेमाल करते है. इसी लिए कोई भी व्यक्ति अपने प्रोडक्ट को हजारो लोगो तक पहुंचाने के लिए तरह-तरह के ऍप में अपना विज्ञापन दे सकता है. जिससे यूजर द्वारा क्लिक करने पर आपके वेबसाइट पर आसानी से पहुंचा जा सकता है !

  • YOUTUBE MARKETING –

यूट्यूब आज के समय में दूसरा सबसे बड़ा सर्च इंजिन है. जिससे यूट्यूब पर बहुत ट्रैफिक रहता है. यह एक ऐसा जरिया है जहा पर आप अपने प्रोडक्ट को विडिओ द्वारा प्रोमोट कर सकते है. आपने देखा होगा की आप जब भी यूट्यूब पर कोई विडिओ देखते है तो विडिओ के बिच में ही आपको विज्ञापन का विडिओ दीखता है. यह असल में किसी कंपनी के प्रोडक्ट की मार्केटिंग विडिओ होती है. जिसे लोग देखते है और आकर्षित होते है. यूट्यूब पर बड़ी संख्या में व्हीवर्स है. जिससे के प्रोडक्ट को ज्यादा लोगो तक पहुँचाया जा सकता है !

  • EMAIL MARKETING –

ई-मेल मार्केटिंग से कंपनी ग्राहकों को ई-मेल के माध्यम से प्रोडक्ट की जानकरी भेजती है. इसके साथ-साथ इसमें प्रोडक्ट की पूरी डील और ऑफर्स भी उपलब्ध कराइ जाती है. प्रोडक्ट की जानकारी के साथ उसका लिंक भी होता है. जो ग्राहकों को आसानी से खरीदने की जानकारी प्रधान करता है. ई-मेल मार्केटिंग द्वारा आप लाखो ग्राहकों तक पहुँच सकते है. डिजिटल मार्केटिंग के लिए यह बहुत ही अच्छा और आसान तरीका है !

अंतिम शब्द

तो दोस्तों यह थे डिजिटल मार्केटिंग के फायदे – benefits of digital marketing in hindi . उम्मीद है आपको डिजटल मार्केटिंग के बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिल गई होगी. और आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा. अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे. और साथ ही वेबसाइट के नोटिफिकेशन बेल को भी ऑन कर दे. ताकि आने वाले समय में आप कोई भी आर्टिकल मिस ना करे. क्योकि हम ऐसे ही हेल्पफुल आर्टिकल आपके लिए रोजाना लाते रहते है. अगर आपको इस आर्टिकल से जुडी कोई भी समस्या हो तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है धन्यवाद !

- Advertisement -
Raj d Rajputhttps://techyatri.com/
Raj d Rajput is the Author & Co-Founder of the TechYatri.com. He has also completed his graduation in Computer Science from Pune (mahatrashtra) . He is passionate about Blogging & Digital Marketing

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

यह भी पढ़े