HomeINTERNETगूगल सर्च कैसे काम करता है ?

गूगल सर्च कैसे काम करता है ?

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम देखने वाले है गूगल सर्च कैसे काम करता है . दोस्तों हम सब अपनी लाइफ में गूगल सर्च इंजिन का इस्तेमाल तो करते ही है . इसी लिए आपको तो पता ही होगा की गूगल एक बहुत बड़ा सर्च इंजिन है . सारी दुनिया गूगल का इस्तेमाल करती है . और गूगल एक बहुत नामी और बहुत ही फेमस कम्पनी है !

दोस्तों आज के समय में हमें कोई भी जानकारी चाहिए होती है तो हम सीधा गूगल की मदत लेते है . गूगल से आपको हर चीज के बारे में जानकारी मिल जाती है . लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की गूगल यह जानकारी लाता कहा से है ? कैसे हमें हर चीज के बारे में जानकारी गूगल से मिल जाती है ? इन्ही विषय पर हम आज चर्चा करने वाले है . जिससे आपको गूगल सर्च इंजिन के बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिल जाएगी इसी लिए आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े !

गूगल क्या है ? और इसकी शुरुवात कब हुई

दोस्तों जैसा की हम सब जानते है की गूगल एक सर्च इंजिन है . आसान भाषा में समझाया जाये तो अगर हम किसी भी शब्द को अगर गूगल पर टाइप करते है तो उसके बारे में हमें सम्पूर्ण जानकारी मिल जाती है . गूगल की शुरुवात १९९६ में एक रिसर्च के दौरान लैरी पेज और सर्जे ब्रेन ने की थी . यह दोनों स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट थे . सबसे पहले इन्होने जो सर्च इंजिन बनाया था उसका नाम रखा था बैकरब !

उसके बाद उन्होंने इसका नाम बदल कर गूगल रखा . १९९७ में गूगल का डोमेन रजिस्टर हुवा था . १९९८ तक २,५०,००,००० वेबसाइट का डेटा इन्होने तैयार कर लिया था . उनके इस जूनून और लगन को देख कर सन माइक्रो सिस्टम के फाउंडर एंडी ने १ लाख डॉलर का चेक google inc कम्पनी के नाम पर काट दिया . जो की उस वक्त मौजूद थी ही नहीं !

४ सितंबर १९९८ को सर्जे ब्रेन और लैरी पेज ने गूगल की स्थापना की थी . और उस चेक को कॅश करने के लिए उसी नाम से खाता खोला . और अपने कम्पनी का नाम गूगल ही रखा . उन्हें ऐसे लग रहा था की वे इस प्रोजेक्ट पर अपना काफी समय दे रहे है और उनका पढाई पर से ध्यान हटता जा रहा है . इसी लिए उन्होंने इस प्रोजेक्ट को बेचने का निर्णय लिया . और एक्साइट कम्पनी के सीईओ जॉर्ज बेल से १ मिलियन डॉलर की डील की !

लेकिन बेल ने इस डील को ख़ारिज किया . उसके बाद उन्होंने फिर से उस प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू किया . और अपना ऑफिस १९९९ में पैलो अल्टो ( कैलिफोर्निया ) में शिफ्ट किया . और देखते ही देखते साल २००० तक गूगल दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजिन बन गया . और आज के समय में लगभग सभी लोग गूगल सर्च इंजिन का ही इस्तेमाल कर रहे है !

गूगल सर्च कैसे काम करता है – How Google Search Works in Hindi

दोस्तों गूगल भी एक तरह की वेबसाइट ही है . अगर हमें कुछ भी सर्च करना होता है तो हम इसी के अंदर सर्च करते है . तो आखिर गूगल इतनी सारी जानकारी लाता कहा से है . दोस्तों जो गूगल है वह कोड रन करता है अपने अल्गोरिदम रन करता है . और इंटरनेट पर जितनी भी वेबसाइट है उन सबको विजिट करता है !

और उन सभी वेबसाइट का डेटा अपने डेटाबेस में जमा कर लेता है . और हम जो भी सर्च करते है तो गूगल अपने डेटा बेस से वह जानकारी निकाल कर हमारे सामने दिखता है . मतलब हमने जिस किसी विषय से संबंधित सर्च किया है उस विषय से संबंधित जितनी भी वेबसाइट ने आर्टिकल लिखा है वह सारी वेबसाइट गूगल हमारे सामने दिखाता है . अब जानते है की गूगल इन वेबसाइटस की लिस्ट कैसे बनाता है !

गूगल वेबसाइटस की लिस्ट कैसे बनाता है –

दोस्तों गूगल इन सभी वेबसाइट की लिस्ट बनाने के लिए इस्तेमाल करता है स्पाइडर का जिसे हम रोबोट भी बोल सकते है . या फिर कोडिंग भी बोल सकते है . अगर मान लीजिये आपने एक वेबसाइट बनाई तो गूगल स्पाइडर को आपके वेबसाइट पर भेजता है . अब वह स्पाइडर जायेगा आपके वेबसाइट के अंदर . और वह स्पाइडर ढूंढेगा वेबसाइट के अंदर के हायपर लिंक्स को . ऐसे लिंक्स जो की दूसरे वेबसाइट को पॉइंट कर रहे है !

और मान लीजिये उस स्पाइडर को १० ऐसे वेबसाइट के लिंक्स मिले जो की आपके वेबसाइट से पॉइंट हो रहे थे . अब स्पाइडर ओटोमॅटिकली उन १० वेबसाइट पर जायेगा और वहा पर सेम प्रोसेस करेगा . ऐसा करते करते पूरा वेबसाइट का एक जाल बनाएगा . और घूमते घूमते पूरा इंटरनेट स्कैन करता रहेगा . अब जो जो वेबसाइट इस स्पाइडर को मिलती जा रही है उन सारी वेबसाइट का टाइटल , डिस्क्रिप्शन , URL यह सारी चीजे अपने डेटाबेस में स्टोर करता जायेगा !

तो दोस्तों गूगल के जो स्पाइडर है वह पुरे इंटरनेट पर घूमते रहते है . और जो भी नयी वेबसाइट आती है या फिर जो वेबसाइट अपडेट होती उनकी भी जानकारी यह कलेक्ट कर गूगल के डेटाबेस में डाल देते है . तो दोस्तों ऐसे कही सारे स्पाइडर डेटा जमा कर के गूगल का डेटाबेस भर रहे है . ऐसे में बात आती है सर्वर की इतना सारा डेटा जमा करने के लिए उन्हें जरुरत पड़ती है सर्वर की . तो गूगल के पास ऐसे कई सारे सर्वर है जिनमे यह वेबसाइट का डेटा जमा करते है . अब बात करते है यह वेबसाइट हम तक कैसे पहुँचती है !

सर्च करने पर सही वेबसाइट लोगो तक कैसे पहुँचती है –

अब दोस्तों बात आती है गूगल के क्लाइंट्स की याने लोगो की . लोग जिस किसी विषय से संबंधित सर्च करते वह सही आर्टिकल लोगो तक कैसे पहुँचता है . दोस्तों अब मान लीजिये हमने गूगल पर सर्च किया फ्री फायर गेम से पैसे कैसे कमाए ? अब जिन जिन वेबसाइट ने इस विषय पर आर्टिकल लिखा है और जिस जिस आर्टिकल की टाइटल में , डिस्क्रिप्शन में , नाम में इस कीवर्ड का इस्तेमाल किया गया है उन सारे आर्टिकल्स को वेबसाइट को गूगल अपने सर्वर में ढूंढेगा . जिन जिन आर्टिकल में इस पर्टिकुलर कीवर्ड इस्तेमाल किया गया है उन सभी वेबसाइट की गूगल एक लिस्ट बनाएगा . और उनके रैंक क़े अनुसार उन सारे वेबसाइट को आर्टिकल्स को गूगल आपके सामने दिखायेगा !

अंतिम शब्द

तो दोस्तों यह था गूगल सर्च कैसे काम करता है . उम्मीद है आपको गूगल सर्च क़े बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिल गयी होगी . और आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा . अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों क़े साथ जरूर शेयर करे . और वेबसाइट क़े नोटिफिकेशन बेल को भी जरूर ऑन करदे . ताकि आने वाले समय में आप कोई भी आर्टिकल मिस ना करे . अगर आपको इस आर्टिकल से जुडी कोई भी समस्या हो तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है धन्यवाद !

- Advertisement -
Raj d Rajputhttps://techyatri.com/
Raj d Rajput is the Author & Co-Founder of the TechYatri.com. He has also completed his graduation in Computer Science from Pune (mahatrashtra) . He is passionate about Blogging & Digital Marketing

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

यह भी पढ़े