पेटेंट क्या है और पेटेंट कैसे करे ?

- Advertisement -

पेटेंट क्या है और पेटेंट कैसे करे: आपने पेटेंट के बारे में बहुत बार सुना होगा. कही बार लोग बोलते है की मैंने इस चीज का पेटेंट किया है या फिर इस चीज का पेटेंट इसके पास है. तो आज हम इसी के बारे में विस्तृत चर्चा करेंगे की आखिरकार यह पेटेंट क्या है और पेटेंट कैसे करते है ? हम यहाँ पर आपको किसी भी चीज या विशिष्ठ खोज का पेटेंट करने सम्पूर्ण विधि प्रारम्भ से अंत तक स्टेप बाय स्टेप समजने वाले है. अगर आप भी किसी नई चीज या खोज पर काम कर रहे है तो उसका भी पेटेंट जरूर कीजिये और उससे पैसे कमाए. तो आपको यह लेख आराम से पढ़ना है और पेटेंट के बारे में समजना है.

- Advertisement -

पेटेंट क्या है और पेटेंट कैसे करे?

पेटेंट एक क़ानूनी प्रक्रिया द्वारा बनाया गया अधिकार है जो की किसी भी नयी खोज, अनोखा डिज़ाइन, कोई भी प्रक्रिया तथा विशिष्ठ सेवा के लिए एक विशिष्ट अधिकार देता है, जो की खोजकर्ता को उनके अविष्कार को बेचने या फिर उपयोग करने या फिर करने देना का अधिकार प्रदान करता है.

पेटेंट किसी भी एक देश, समूह, राज्य या फिर किसी विशिष्ट व्यक्ति का हो सकता है. पेटेंट में आने वाली कोई भी सामग्री आप बिना अनुमति के उपयोग नहीं कर सकते. अगर आप पेटेंट की गई कोई भी सेवा या सामग्री इस्तेमाल करना चाहते है तो आपको उस व्यक्ति विशेष की अनुमति लेनी होगी.

- Advertisement -

पेटेंट योग्य क्या माना जाता है?

  • Process – असेंबली लाइन प्रक्रिया या ऑनलाइन ऑर्डरिंग सिस्टम की तरह.
  • Machine – मोटरसाइकिल की तरह पुर्जों वाली कोई भी मशीन.
  • Manufacture – निर्माण का लेख. एक वस्तु जो परिणाम प्राप्त करती है, जैसे कि एक tool.
  • Composition of matter – chemical compositions को संदर्भित करता है. एक नई रासायनिक संरचना के साथ एक नई दवा की कल्पना करें.

क्या अधिक है, किसी ज्ञात आविष्कार में सुधार के लिए भी पेटेंट कराया जा सकता है.

पेटेंट के लिए विचार करने के लिए, आपका आविष्कार भी होना चाहिए:

  • Novel – नए और पिछले आविष्कारों से किसी तरह अलग.
  • Useful – कुछ ऐसा जो व्यावहारिक लाभ प्रदान करे और कुछ हासिल करने में मदद करे.
  • Non-obvious – आविष्कार के क्षेत्र में कुशल कोई व्यक्ति इसे स्पष्ट नहीं मानेगा.

पेटेंट के 4 विभिन्न प्रकार

पेटेंट आवेदन अक्सर rejected कर दिए जाते हैं क्योंकि वे सही ढंग से filed नहीं किए जाते हैं. यहां चार अलग-अलग प्रकार के पेटेंट आवेदन दिए गए हैं और वे कैसे भिन्न हैं:

  • Provisional – यू.एस. कानून के तहत, उपयोगिता पेटेंट प्रक्रिया के भाग के रूप में, आप एक कम औपचारिक अनंतिम पेटेंट आवेदन दायर कर सकते हैं जो आपको सही, experiment, determine commercial viability आदि के लिए समय देते हुए एक आविष्कार के लिए आपके दावे का दस्तावेजीकरण करता है. इसके अलावा, यह प्रक्रिया आपको आपकी औपचारिक फाइलिंग की योजना बनाने के लिए एक अतिरिक्त वर्ष और आपको एक प्राथमिकता दाखिल करने की तारीख देता है. एक बार जब आपका अनंतिम पेटेंट आवेदन दिया जाता है, तो आप अपने आविष्कार को लंबित पेटेंट के रूप में पहचान सकते हैं. 12 महीने के बाद समाप्त हो जाता है.
  • Utility – जब वे “पेटेंट” शब्द सुनते हैं तो ज्यादातर लोग क्या कल्पना करते हैं यह एक अत्यंत सूक्ष्म और विस्तृत तकनीकी दस्तावेज है जो एक नई मशीन, प्रक्रिया या प्रणाली का उपयोग करने का विवरण देता है 20 साल तक आपके आविष्कार की रक्षा करता है.
  • Design – केवल उस उत्पाद के सजावटी बाहरी हिस्से की सुरक्षा करता है जिसका व्यावहारिक उपयोग होता है, जैसे कार का अनूठा डिज़ाइन. 15 साल के लिए अपने डिजाइन की रक्षा करता है.
  • Plant – एक ऐसे आविष्कारक की रक्षा कर सकता है जिसने एक अनूठी नई किस्म के पौधे का आविष्कार किया है. यहाँ पकड़ यह है कि आप इस पौधे को अलैंगिक रूप से पुन: उत्पन्न करने में सक्षम होना चाहिए, जिसका अर्थ है कि आप बीज का उपयोग नहीं कर सकते. इसके बजाय, यदि आप कटिंग, बडिंग या ग्राफ्टिंग करके इस नई किस्म को प्राप्त करते हैं तो इससे मदद मिलेगी. गुलाब और सेब की नई किस्मों को आमतौर पर इसी तरह विकसित किया जाता है और पेटेंट कराया जाता है. 20 साल तक आपकी नई रचना की रक्षा करता है.

पेटेंट का प्रयोग कैसे करे?

एक पेटेंट आपको अपने आविष्कार पर पूर्ण स्वामित्व देता है और दूसरों को आपकी सरल सोच और कड़ी मेहनत का लाभ उठाने से रोकता है. हालांकि, यदि आपका अंतिम लक्ष्य पैसा कमाना है, तो आपको पेटेंट को किसी प्रतियोगी को बेचने, उपयोग के अधिकारों को लाइसेंस देने, या अपने आविष्कार की मार्केटिंग खुद करने के बारे में सोचना होगा.

पेटेंट के बारे में अन्य बाते

आपके आविष्कार की जटिलता के आधार पर पेटेंट के लिए फाइल करने की लागत हजारों से लेकर हजारों डॉलर तक हो सकती है. इसलिए आपके फ़ाइल करने से पहले यह शोध करना आपके हित में है कि बाज़ार आपके आविष्कार पर कैसे प्रतिक्रिया दे सकता है. यदि आप एक वास्तविक आवश्यकता और इच्छा को उजागर करते हैं, तो आप सही रास्ते पर हैं. दूसरी ओर, यदि सर्वसम्मति अधिक उदासीन है, तो बेहतर होगा कि आप पेटेंट प्रक्रिया के सभी खर्च और ऊर्जा से न गुजरें.

- Advertisement -

आप अपने आविष्कार के निर्माण की लागत को भी ध्यान में रखे. यदि यह बाजार से अधिक है, तो यह ड्राइंग बोर्ड पर वापस आ गया है. लेकिन अगर इसका उत्पादन लागत प्रभावी है, तो पेटेंट हासिल करना अमूल्य हो सकता है.

पेटेंट क्या है और पेटेंट कैसे करे? FAQ’s

पेटेंट के कितने प्रकार होते है?

पेटेंट के 4 प्रकार होते है पहला Provisional दूसरा Utility तीसरा Design और चौथा Plant.

पेटेंट कब लागू हुआ?

भारत में सर्वप्रथम वर्ष 1911 में भारतीय पेटेंट और डिज़ाइन अधिनियम बनाया गया था। पुनः स्वतंत्रता के बाद 1970 में पेटेंट अधिनियम बना और इसे वर्ष 1972 से लागू किया गया. इस अधिनियम में पेटेंट (संशोधन) अधिनियम, 2002 और पेटेंट (संशोधन) अधिनियम, 2005 द्वारा संशोधन किये गए.

Patent कैसे होता है?

पेटेंट (Patent) एक ऐसा कानूनी अधिकार है जो किसी व्यक्ति या संस्था को किसी विशेष उत्पाद, खोज, डिजाईन, प्रक्रिया या सेवा के ऊपर एकाधिकार देता है. पेटेंट प्राप्त करने वाले व्यक्ति के अलावा यदि कोई और व्यक्ति या संस्था इनका उपयोग (बिना पेटेंट धारक की अनुमति के) करता है तो ऐसा करना कानूनन अपराध माना जाता है.

पेटेंट क्या है in Hindi?

पेटेंट का क्या मतलब है? बौद्धिक संपदा की सुरक्षा, किसी निश्चित अवधि के लिए किसी आविष्कार का उपयोग करने, बेचने या निर्माण करने के लिए किसी को विशेष अधिकार प्रदान करना. एक पेटेंट एक शब्द है जिसका उपयोग कई शताब्दियों के लिए किया गया है, और भौतिक आविष्कारों और बौद्धिक संपदा दोनों पर लागू होता है.

अंतिम शब्द : पेटेंट क्या है और पेटेंट कैसे करे ?

तो दोस्तों यह था पेटेंट क्या है और पेटेंट कैसे करे ? में आशा करता हु की आप समझ गए होंगे की पेटेंट क्या है और पेटेंट कैसे करे ? और में उम्मीद करता हु की आपको यह आर्टिकल.अच्छा लगा होगा. अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और साथ ही वेबसाइट के नोटिफिकेशन बेल को भी ऑन कर दे ताकि आने वाले समय में आप कोई भी आर्टिकल मिस ना करे क्योकि हम ऐसे ही हेल्पफुल आर्टिकल आपके लिए रोजाना लाते रहते है. अगर आपको इस आर्टिकल से जुडी कोई भी समस्या हो या फिर आपके मन में कोई भी सवाल हो तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है हम आपके सवाल का जवाब देने का पूरा प्रयास करेंगे. धन्यवाद.

अन्य पढ़े –

- Advertisement -

Related Articles

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles