HomeTECHNOLOGYChatbot क्या है ? What is Chatbot in Hindi

Chatbot क्या है ? What is Chatbot in Hindi

आज इस article में हम एक ऐसी technology के बारे में बात करने वाले हैं जिसका इस्तेमाल आज बड़ी-बड़ी companies कर रही हैं।

आज हम बात करने वाले हैं Chatbot के विषय में। अगर आप technology और computers की field में रुचि रखते हैं तो आपने Chatbot का नाम जरूर सुना होगा।

लेकिन अगर आप chatbot के बारे में कुछ नहीं जानते हैं तो कोई बात नहीं आप बिलकुल सही जगह पर हैं।

क्योंकि आज इस article में हम आपको Chatbot के विषय में जरूरी जानकारी देने वाले हैं जैसे – Chatbot क्या है, कितने प्रकार का होता है, इसके फायदे और नुक्सान क्या हैं आदि।

Chatbot क्या है (What is Chatbot)

chatbot kya hai

Chatbot शब्द को अगर दो हिस्सों में बांटा जाए तो इसका विभाजन होगा Chat और Bot. Chat का मतलब होता है बातचीत और Bot का मतलब होता है Robot.

इस तरह Chatbot का मतलब होता है बातचीत करने वाला robot. ये कोई physical robot नहीं होता है। Chatbot एक तरह का computer program है जिसे normal question-answering के लिए बनाया गया है।

Chatbot से कोई भी बात कर सकता है। जैसे ही आप chatbot से कोई ऐसा सवाल पूछेंगे जिसका जवाब उसे पता होगा तो वो तुरंत जवाब जरूर देगा। आप chatbot से बिलकुल ऐसे बात कर सकते हैं जैसे आप किसी इंसान से बात करते हैं।

ऐसे कई बड़ी companies हैं जो chatbots का इस्तेमाल करती हैं जिनमे से कुछ हैं – Hostinger, Massage Envy, Domino’s, Casper आदि।

चैटबॉट क्या है (Chatbot meaning in hindi)

चैटबॉट एक सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन है जिसका उपयोग लाइव मानव एजेंट के साथ सीधे संपर्क प्रदान करने के बदले टेक्स्ट या टेक्स्ट-टू-स्पीच के माध्यम से ऑन-लाइन चैट वार्तालाप करने के लिए किया जाता है।


Chatbot के प्रकार (Types Of Chatbot)

Chatbots 2 प्रकार के होते हैं। पहला होता है Rule-based chatbot और दूसरा होता है AI-based chatbot. इन दोनों chatbots के बारे में हम आपको विस्तार से बताएंगे।

  1. Rule-Based Chatbot – Rule-based chatbots ऐसे chatbots होते हैं जिनके जवाब पहले से ही set कर दिए जाते हैं। इन chatbots के program में पहले से ही एक set of questions को डाल दिया जाता है जिसके कारण ये सिर्फ उन्ही सवालों के जवाब दे सकते हैं जो की इनके program में डाले गए हैं।

    अगर आपने इनसे कोई ऐसा सवाल पूछ लिया जो की इनके program में है ही नहीं तो ये उनका जवाब नहीं दे पाते हैं। इन chatbots को FAQs के लिए बनाया जाता है जिनमे पहले से ही कुछ सवाल डाल दिए जाते हैं और जैसे ही कोई user इनसे सवाल पूछता है chatbot तुरंत उनका जवाब दे देता है।
  1. AI-Based Chatbot – AI-based chatbots ऐसे chatbots होते हैं जो की किसी भी सवाल का जवाब दे सकते हैं। इनमे कोई भी सवाल नहीं डाले जाते हैं। User इनसे कोई भी सवाल पूछ सकता है। ऐसे chatbots user के किसी भी सवाल का जवाब तुरंत दे सकता है।

    AI chatbots समय के साथ सिखने की काबिलियत रखते हैं। जैसे-जैसे ये users के साथ बात करते हैं वैसे-वैसे ये और भी ज्यादा smart होते जाते हैं। ये users ये बात कर-कर के सीखते हैं और अपने जवाब देने की accuracy को भी बढ़ाते हैं।

AI chatbots का सबसे बढ़िया उदाहरण Amazon की Alexa, Google का Assistant, Apple की Siri आदि हैं। ये सभी chatbots हैं जो की समय के साथ सीखते-सीखते आज बहुत smart हो गए हैं।

Chatbot काम कैसे करता है?

जैसा की आपने ऊपर जाना की Chatbot 2 प्रकार के होते हैं। और दोनों chatbots अलग-अलग तरह से काम करते हैं। हम आपको दोनों ही chatbots के काम करने के तरीके के बारे में अच्छे से बताएंगे।

  1. Rule-Based Chatbots – सबसे पहले बात करते हैं rule-based chatbots की। Rule-based chatbots user को केवल वही जवाब देते हैं जो की उनके database में पहले से saved होता है।

अगर user ने कोई ऐसा सवाल पूछ लिया जो की chatbot के database में है ही नहीं तो वो जवाब नहीं देता है। इस प्रकार के chatbots अपने सीमित जानकारी के अनुसार ही जवाब दे सकते हैं उसके विपरीत वे कुछ नहीं कर सकते हैं।

  1. AI-Based Chatbots – दूसरी ओर हैं AI-based chatbots इनके database में पहले से कोई सवाल-जवाब saved नहीं होते हैं बल्कि ये अपनी बुद्धि से जवाब देते हैं। आप इनसे कोई भी सवाल पूछ अपना जवाब पा सकते हैं।
- Advertisement -

ये users के behaviour और उनके द्वारा पूछे गए सवालों के अनुसार सीखता है और अपने आप को बहुत तेजी से विकसित करता रहता है।

दोनों ही Chatbots में एक चीज़ सामान्य है और वो है बात करने का तरीका। अगर बात voice में हो रही है तो पहले chatbot ASR (Automatic Speech Recognition) की मदद से voice को text में बदलता है और उसके बाद user को जवाब देता है।

लेकिन अगर बात text में हो रही है तो ऐसे में chatbot ASR जैसी तकनीक का प्रयोग नहीं करता है और उसके अनुसार user द्वारा पूछे गए सवाल का जो भी सबसे सटीक जवाब होता है वो user को दे देता है।

Chatbot के फायदे

  1. Customer Support – Chatbots की मदद से लोगों को support देना आसान हो जाता है। Chatbots 1000 लोगों का काम अकेला कर लेता है जिससे manpower कम लगती है और customers को अच्छी service भी मिलती है।

अगर कोई company customer support के लिए employees hire करने जायेगी तो company को हज़ारों employees hire करने पड़ेंगे और उन्हें salary भी देनी पड़ेगी।

लेकिन अगर वही company chatbots बनाएगी तो उसे sirf 1 chatbot बनाना होगा जिसे कोई salary भी नहीं देनी पड़ेगी और customer support भी अच्छा रहेगा।

  1. Quick Reply – Chatbots आम इंसानों की तुलना में जल्दी reply करते हैं जिससे customer satisfy और खुश रहता है। और जब customers satisfy रहते हैं तो business बढ़ता है।
  1. 24/7 Available – Chatbots काम पर 24/7 मौजूद रहते हैं जबकी employees 24/7 मौजूद नहीं रहते हैं। अगर customer देर रात में भी कोई सवाल पूछ रहा है तो chatbots उसका जवाब भी दे सकते हैं लेकिन employees ऐसा नहीं कर सकते हैं।
  1. Saves Money – जैसा की हमने ऊपर बताया की अगर आप chatbots की जगह employees को hire करते हो तो ऐसे में आपको employees को salary भी देनी होगी। लेकिन chatbots को कोई salary नहीं देनी पड़ती है जिससे पैसों की बचत होती है।

Chatbot के नुकसान

  1. Difficult To Create – Chatbots को बनाना आसान नहीं है। Chatbots बनाने के लिए अच्छी coding आनी जरूरी है लेकिन आजकल market में Mobile Monkey जैसी कुछ websites आ गयी हैं जिनकी मदद से बहुत आसानी से कोई भी chatbots को बना सकता है।
  2. Lack of Emotions – Chatbots में किसी भी प्रकार की कोई भावना नहीं होती है जिसके कारण user experience थोड़ा कम हो जाता है। क्योंकि अगर chatbots की जगह कोई इंसान customer support देगा तो वो customer से थोड़ी हसी-मजाक भी कर सकता है लेकिन कोई emotions न होने के कारण chatbots ऐसा नहीं कर सकते हैं।

Chatbot से संबंधित कुछ सवाल

Chatbot क्या है?

चैटबॉट एक सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन है जिसका उपयोग लाइव मानव एजेंट के साथ सीधे संपर्क प्रदान करने के बदले टेक्स्ट या टेक्स्ट-टू-स्पीच के माध्यम से ऑन-लाइन चैट वार्तालाप करने के लिए किया जाता है।

Chatbot का आविष्कार किसने किया था?

Chatbot का आविष्कार Joseph Weizenbaum द्वारा किया गया था। वे एक German-American computer scientist थे।

Chatbot का अविष्कार कब हुआ था?


chatbot का आविष्कार 1966 में हुआ था।

निष्कर्ष

दोस्तों, इस article में हमने chatbots से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी दे दी है। अब आपको पता चल गया होगा की Chatbots क्या हैं और इनके फायदे और नुक्सान क्या हैं।

अगर आपको ये article informational और helpful लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ share जरूर करें ताकि आपके दोस्तों भी chatbots के बारे में जान पाएं।

अन्य पढ़े –

- Advertisement -
Editorial Teamhttps://techyatri.com/
The editorial team is a group of individuals in TechYatri.com , who write articles on various topics .

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

यह भी पढ़े